युवा उद्धयोगपति प्रमोद कुमार सरोज जी को मिला इंडीयन लीडरशिप अवार्ड !

नई दिल्ली में आज 20 मई को ऑल इंडिया अचीवर फ़ाउंडेशन द्वारा आयोजित इंडीयन लीडरशिप अवार्ड इन इंडस्ट्रीयल डिवेलप्मेंट आयोजन में CPS Developers & Consultancy PVT. LTD. को नैशनल लीडरशिप का अवार्ड मिला । प्रमोद कुमार सरोज जी समाज के कुछ गिने चुने युवा उद्योगपतियों में से है । प्रमोद जी इस कम्पनी के निदेशक है और यह अवार्ड उन्हें डा० भीष्मा नारायण सिंघ पूर्व गवर्नर एंड यूनीयन मिनिस्टर , श्री बी पी सिंघ पूर्व गवर्नर ( सिक्किम ) ,वेद प्रकाश सेक्रेटरी ओफ़ इंडीयन कोंग्रेस कमिटी और श्री हरिकेश बहादुर पूर्व मेम्बर ओफ़ पार्लियामेंट के हाथो प्राप्त हुआ । 

प्रमोद कुमार सरोज जी युवा उद्धयोगपति है जो अपने बिज़नेस को बुलंदियों पर ले जाने के लिए हमेशा प्रयासरत तो  रहते ही  है पर साथ ही साथ समाज के प्रति भी काफ़ी रुचि रखते है । और सामाजिक कार्यक्रमों में उनकी उपस्थिति अक्सर दिखती रहती है । 


आज के समय में जहाँ बहुजन और पिछड़ो के बारे में हमेशा नेगेटिव समाचार छपते रहते है इस तरह के समाचार समाज को गर्व करने का मौक़ा देते है । बहुत बहुत बधाई प्रमोद कुमार सरोज जी । – राजेश पासी, मुंबई 

श्रीपासी सत्ता द्वारा आयोजित एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार सफलता पूर्वक संपन्न!

13 मई 2017 को इलाहाबाद संग्रहालय सभागार में आयोजित एक दिवसीय सेमिनार सफलता पूर्वक पूर्ण हुआ । इस आयोजन में  उत्तरप्रदेश के अलावा दिल्ली , मुंबई , मध्य प्रदेश  और बिहार के साथियों ने भी भाग लिया । सेमिनार के लिए देश भर से पत्रिका से जुड़े लोग , साहित्य लेखन से जुड़े लोग , ऐसे युवा जो अपनी पहचान सिर्फ़ अपने बल बूते पर बनाए है और समाज  में ऐक्टिव है ऐसे सीमित लोगों को ख़ास तौर पर आमंत्रित किया गया था । राजनीतिक  और पासी समाज  की संस्थाओ को फ़िलहाल इसमें शामिल नही किया गया था । यह सेमिनार पत्रिका की वेब्सायट के एक साल पूर्ण होने पर हमारे साथी डा० रमेश ( कॉर्प्रोट मंत्रालय ) की सलाह पर प्रयोग के तौर पर किया जो पूरी तरह से सफल था ।

मंच पर उपस्थित लोगों में प्रमुख अतिथि श्री छोटालाल पासी (IAS) अपर आयुक्त फ़ैज़ाबाद मंडल थे , इतिहासकार में लखनऊ से राजकुमार इतिहासकार जी और हरदोई से बहुजन चिंतक राम दयाल वर्मा जी थे , युवा साथी डा० रमेश आईएएस अलायड ( कारपोरेट मंत्रालय ) , राम सुचित भारतीय जी (प्रबन्ध सम्पादक), फ़िल्मकार केशव कैथवास जी , प्रोफ़ेसर भगवानदीन उपस्थित थे ।

सेमिनार शानदार वातानुकूलित हाल में लंच की वयस्था के साथ रखा गया था । सभी उपस्थित साथियों के नाम तो पॉसिबल नहि है पर सम्पादकीय मंडल के R K सरोज ( कवि /दरोग़ा ) , बिहार के वेद प्रकाश ( सोशल मीडिया स्टार ) उनके साथ अमित जी , राम यश विक्रम जी , बनारस के सोनू सिंह पासी , मुंबई के राजेश पासी , प्रतापगढ़ के वेद ( आर्यन ) जी , साथी यशवंत सिंह , प्रियांक जी , नोयडा से संजीव जी ,रागिनी जी , राजू पासी जी , नीरज जी आकर्षण के केंद्र थे ।

चूँकि यह एक दिवसीय सेमिनार था उपस्थित सभी लोगों ने अपने विचार रखे । मुख्य अतिथि छोटे लाल पासी जी कहा कि पासी समाज का चरित्र स्वाभिमानी है। वह आत्म सम्मान से समझौता नही करता है।इतिहासकार और साहित्य से जुड़े लोगों ने समाज पर अपना नज़रिया रखा । सम्पादक अजय जी ने  अपने व्याख्यान में समाज में वर्तमान के सभी पहुलुओं पर अपना पक्ष रखा । कम उम्र में इतनी परिपक्वता भरा विश्लेषण ने सभी का ध्यान खींचा। महिला साथियों में डा० सुधा जी ने महिलाओं और शिक्षा पर अपना दमदार पक्ष रखा , इलाहाबाद  के आसपास में सामाजिक रूप ऐक्टिव मिस रागिनी जी ने समाज में महिलाओं की भागीदारी पर ज़ोर दिया ।

इस सेमिनार  में भाग लेनेवाले 70% से ज़्यादा साथी 35 साल के आसपास के थे । सीनियर साथियों के सहयोग से आयोजित इस सेमिनार को युवा पासी समाज सेमिनार कहना ग़लत न होगा । और सबसे अच्छी बात  सेमिनार में अलग -अलग क्षेत्रों से  जुड़े लोगों का समावेश था । तक़रीबन  हर क्षेत्र में माहिर लोग  चाहे शिक्षा , साहित्य , फ़िल्म , लेखक , इतिहासकार , डॉक्टर , इंजीनियर , कवि , सरकारी अफ़सर , टीचर , विद्यार्थी , पत्रकार , सोशल मीडिया स्टार सभी क्षेत्र के लोग इस सेमिनार में उपस्थित थे । सभी लोगों से मिल कर एक दूसरे से मेल मुलाक़ात कर सभी बिंदुओं पर चर्चा हुई । 
सेमिनार में मंचाधीन साथियों के हाथो श्री पासी सत्ता पत्रिका के इस महीने के अंक का भी विमोचन हुआ । यह अंक मदारी पासी को समर्पित किया गया है जो जल्द ही आपके हाँथों में होगा ।
सेमिनार के अंत में हरदोई के पत्रकार साथी स्व0 हरिनाम रावत के सड़क हादसे में हुई असामयिक मृत्यु पर दो मिनट की शोक सभा होकर सम्पन्न हुई।

जय भीम , जय भारत

देवधर में महाराजा बिजली पासी की प्रतिमा का अनावरण !

देवघर, झारखण्ड: अखिल भारतीय पासी समाज, देवघर के द्वारा दिनांक 06 अप्रैल 2017 को महाराजा बिजली पासी का राज्यरोहण समारोह धूमधाम से मनाया गया। इसके साथ ही देवघर के महाराजा बिजली पासी चैक पर महाराजा बिजली पासी की आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी किया गया। इसकी जानकारी देवघर पासी समाज के अध्यक्ष दिलीप कुमार महथा ने दिया है।


इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चैधरी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का उद््घाटन श्रीमती रीता राज खवाड़े, महापौर, देवघर नगर निगम ने किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में सुरेश पासवान (पूर्व मंत्री, झारखण्ड सरकार), राज नारायण खवाड़े- पूर्व महापौर देवघर, अशोक कुमार चैधरी- शिक्षा मंत्री- बिहार सरकार, मनीष कुमार- विधायक, श्रीमती सुधा चैधरी- पूर्व मंत्री, आर0सी0 कैथल- पूर्व ए.डी.जी.पी., राघो चैधरी- राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अ.भा. पासी समाज, आर.पी. चैधरी- प्रदेश अध्यक्ष अ.भा. पासी समाज, सुकर पासी- कार्यकारी अध्यक्ष पासी समाज झारखण्ड, जगदीश चैधरी- अध्यक्ष अ.भा. पासी समाज बिहार, हीरालाल चैधरी- सचिव पासी समाज, बिहारी प्रसाद- अध्यक्ष जगलाल चैधरी स्मृृति संस्थान, विश्वनाथ प्रसाद- मुख्य अभियंता आदि प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

पासी समाज इन मुंबई यूनिवर्सिटी – RCP का एक प्रयास समाज के लिए !

 


बाबा साहेब और फूले की विचार धारा शिक्षित बनो , संगठिति बनो , संघर्ष को आगे बढ़ाते हुए इस क्षेत्र में प्रैक्टिकल रूप में कार्य करने का क़दम RCP ने बढ़ाया है ।
इस अप्रेल माह में बाबा साहेब और महात्मा फुले साहेब दोनो की जयंती है । दोनो ही महापुरुषों ने शिक्षा के जगत में महत्वपूर्ण योगदान दिया है । और इनकी जयंती मनाने के लिए RCP ने कल यानि ९ अप्रेल २०१७ को समाज के बच्चों और पेरेंट के लिए एक दिवसीय शैक्षणिक और कैरीयर गाइडेन्स शिविर का आयोजन किया था मुंबई यूनिवर्सिटी में । 
इन महापुरुषों की जयंती मनाने का इससे अच्छा तरीक़ा नहि हो सकता ।
इस कार्यक्रम की सफलता के बारे में मैं कुछ नहि कहूँगा आप लोग ख़ुद ही तस्वीरें देख लीजिए क्योंकि तस्वीरें ख़ुद ही बोलती है । 

जैसा कि हमने पहले ही कहा था ऐसे परिवेश में ऐसा कार्यक्रम पासी समाज में इसका संदेश दूर तक जाएगा । 

ऐसा कार्यक्रम करने का अगला प्लान उत्तर प्रदेश में आयोजित करने का है । जिसके लिए उत्तर प्रदेश के सभी साथी कंधे से कंधा मिला कर खड़े होंगे ।


इसके अलावा मुंबई यूनिवर्सिटी में पासी समाज का के इस तरह के आयोजन ने काफ़ी लोगों को आकर्षित किया । बैनर देखकर यूनिवर्सिटी के काफ़ी प्रोफ़ेसर हमसे मिलने के लिए आए और टीम को प्रोत्साहित किया साथ ही समाज के लोगों को किसी भी तरह की सहायता के लिए आश्वासन दिया ।

मुंबई यूनिवर्सिटी में किसी भी तरह की संस्था को बैनर लगाने की अनुमति नहि मिलती पर हमारे प्रोग्राम से यूनिवर्सिटी के एक डाईरेक्टर काफ़ी ख़ुश हुए और जो बाहर बैनर लगा था ख़ुद फ़ोन करके बोले की बैनर इस पूरे महीने लगा रहने दो ताकि समाज में संदेश जाए । आ यूनिवर्सिटी जाएँगे तो आपको पासी समाज का RCP बैनर ज़रूर दिखाई देगा । जिसकी वजह से काफ़ी लोग न सिर्फ़ पासी समाज के बारे में जानने की कोशिश करेंगे बल्कि नेट पर भी खोजेंगे .

 मैं बहुत संक्षिप्त में कार्य्य्र्म के बारे में बताऊँगा जिससे आपको कार्यक्रम के बारे में और RCP के कार्य करने और उसकी विचारधारा के बारे में जानकारी मिलेगी ।
कार्यक्रम की शुरुआत सभी ने संविधान उद्देशिका पढ़ कर की । उसके बाद सीन्यर साथियों ने बाबा साहेब , महात्मा फूले, और शाहू महाराज पर माल्यार्पण किया ।

बाबा साहेब की १२६ जयंती थी हमने बच्चों के हाथ केक कटवा कर बाबा साहेब की १२६ जयंती मनाई।

उसके बाद प्रमुख मार्गदर्शको ने अपने प्रेज़ेंटेशन दिए उनके नाम और डिग्री आपने हैंड्बिल में देखा ही था नीचे भी बैनर में नाम दिए है । इसके अलावा हमारे 
कार्यक्रम दो सेशन में था पहला १०:३० से १ :३० बजे तक फिर १:३० २:०० बजे तक ब्रेक और लंच था ताकि लोग रेफ़्रेश हो जाए दूसरा सेशन २-४ बजे तक था और फिर ४-५ बजे तक सीन्यर साथियों और उपस्थिति लोगों ने अपने विचार रखे । 
गाइड करने वालों में C A प्रभावती जी , ब्रिजेश जी , संजय वैराल जी , सी पी सरोज जी , डा० रमाशंकर भारत जी , और राजेश जी ने बहुत अच्छी तरह से पेरेंट और बच्चों को गाइड किया । RCP की तरफ़ से इन सभी को फुले और सावित्री बाई की फ़ोटो लगी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया । 
इसके अलावा १५ सेट के एक प्रशंन बच्चों को दिए गए थे नीचे आप इमेज में देख सकते है उन प्रश्नो को । यह प्रश्न बुद्ध, अम्बेडकर , फुले और पासी समाज से जुड़े थे । सबसे जयदा उत्तर देने वाले तीन विद्यार्थियों को पुरस्कार दिया गया । इसी बहाने कम से कम इन लोगों ने नेट पर से समाज के बारे में जानने की कोशिश की । 
RCP पूरी तरह से युवाओं द्वारा संचालित है जिसके बेस में बहुत से सीन्यर साथी सहयोग दिए है जिसके कारण यह ग्रुप खड़ा है ।RCP ग्रुप पर न सिर्फ़ सीन्यर साथियों ने बल्कि समाज के लोगों ने भी भरोसा किया यह RCP के लिए गर्व की बात है ।
धन्यवाद , जय भीम 
           -RCP टीम , मुंबई